Mptet Varg 2 Syllabus 2023 All Subject

Mptet Varg 2 Syllabus – मध्यप्रदेश में शिक्षक भर्ती के लिए व्यापम द्वारा शिक्षक भर्ती पात्रता परीक्षा वर्ग २ आयोजित होने वाली है जिसका notification जारी हो चूका. पात्रता परीक्षा दिनांक 25/04/2023 से प्रारंभ होगी.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

पहले जो शिक्षक भर्ती का पेपर होता था उसी के आधार पर मेरिट लिस्ट की जाती परन्तु अब राज्य सरकार के द्वारा इस बार से शिक्षक भर्ती का नियम बदल दिया गया है. अब जो शिक्षक भर्ती होगी उसके लिए 2 पेपर कार दिए गए है पहले आपको पात्रता परीक्षा पास करनी पड़ेगी उसके बाद एक दूसरा पेपर होगा जिसे सुपरटेट बोल सकते है उसके आधार पर ही मेरिट लिस्ट तैयार की जाएगी.

एक और बड़ा बदलाव जो किया गया है वह यह है की इस बार से माइनस मार्किंग कार दी गई है. अर्थात अभी जो आप mptet varg 2 पात्रता परीक्षा देंगे उसमे माइनस मार्किंग रहेगी.

अब बात करते है mptet varg 2 syllabus के बारे में. इस ब्लॉग पोस्ट में हम आपको परीक्षा का पैटर्न और और डिटेल सिलेबस की जानकारी दूंगा.

Mptet Varg 2 exam pattern

संविदा वर्ग 2 का परीक्षा पैटर्न निम्नानुसार रहेगा

  • वर्ग 2 पात्रता परीक्षा हेतु 150 अंक का एक प्रश्‍नपत्र होगा। परीक्षा की अवधि 2:30 घंटे होगी।
  • पहली बार ऋणात्मक मूल्यांकन का प्रावधान है | प्रत्येक 4 प्रश्नो के गलत उत्तर पर 1 अंक काटा जाएगा।
  • प्रत्‍येक सही प्रश्‍न हेतु 1 अंक निर्धारित रहेगा।
  • पात्रता परीक्षा (Eligibility Test) के सभी प्रश्‍न बहुविकल्‍पीय (MCQ) प्रकार के होंगे, जिनके चार विकल्‍प होंगे और एक विकल्‍प सही होगा।
  • प्रश्‍नपत्र के दो भाग होंगे। भाग- अ एवं भाग-ब होंगे. भाग- अ सभी अभ्यर्थियों के लिये अनिवार्य होगा।
  • भाग-ब के अंतर्गत शामिल विषयों में से किसी एक विषय का चयन करना होगा।

वर्ग 2 पात्रता परीक्षा में 150 अंक का पेपर आयोजित होगा जिसके लिए 150 प्रश्न पूछे जायेंगे प्रत्येक प्रश्न 1 अंक का होगा जिसमे से 30 प्रश्न pedagogy एवं अन्य विषय के होंगे बाकि के 120 प्रश्न आपके सब्जेक्ट से पूछे जायेंगे. जैसे की यदि आप मैथ से exam पेपर दे रहे है तो आपके लिए 120 प्रशन मैथ सब्जेक्ट से पूछे जायेंगे।

subjectTotal QuesTotal No.
सामान्य हिंदी 0808
सामान्य अंग्रेजी 0505
सामान्य ज्ञान एवं समसामयिक घटना तार्किक एवं आन्किक योग्यता 0707
शिक्षा शास्त्र (Pedagogy)1010
Part A

प्रश्‍नपत्र के भाग-अ में सामान्‍य ज्ञान व समसामयिक घटनाक्रम, तार्किक एवं आंकिक योग्‍यता, पेडागोजी की विषयवस्‍तु का स्‍तर हायर सेकेंडरी  के छात्र के मानसिक स्‍तर के समकक्ष होगा। हिन्‍दी व अंग्रेजी की विषयवस्‍तु का स्‍तर हायर सेकेंडरी स्‍कूल परीक्षा के समकक्ष होगा।

क्र.विषयप्रश्नों की संख्‍याकुल अंक
1हिन्‍दी भाषा120 प्रश्‍न120 अंक
2अंग्रेजी भाषा120 प्रश्‍न120 अंक
3संस्‍कृत भाषा120 प्रश्‍न120 अंक
4उर्दू भाषा120 प्रश्‍न120 अंक
5गणित120 प्रश्‍न120 अंक
6विज्ञान120 प्रश्‍न120 अंक
7सामाजिक  विज्ञान120 प्रश्‍न120 अंक
Part B

प्रश्‍नपत्र के भाग-ब की विषयवस्‍तु का स्‍तर स्‍नातक स्‍तर के समकक्ष होगा। इस प्रश्‍नपत्र में म.प्र.राज्‍य के कक्षा- 09 व 10 के प्रचलित पाठ्यक्रम/पाठ्यपुस्‍तकों की विषयवस्‍तु पर आधारित होंगे, लेकिन इनका कठिनाई स्‍तर एवं सम्‍बद्धता (लिंकेज) स्‍नातक स्‍तर तक की हो सकती है। प्रश्‍नपत्र की अवधारणा, समस्‍या समाधान और पेडागाजी की समझ पर आधारित होंगे। 

MPTET Varg 2 Syllabus (Part A)

जैसा की आप सभी लोग समझ चुके है की पार्ट अ सभी विषय के अभ्यर्थियों के लिए है इसमें जो विषय पूछे जायेंगे उनके टॉपिक निम्नानुसार-

सामान्य हिंदी टॉपिक

हिंदी विषय से लगभग 8 प्रश्न पूछे जायेंगे परन्तु इसके लिए आपको पूरी हिंदी व्याकरण तैयार करना पड़ेगी सिलेबस में जो टॉपिक है वह निम्नानुसार है

भाषायी समझ एवं अवबोध हेतु दो अपठित दिए जायेंगे जिसमें एक गद्यांश (निबंध/नाटक/ एकांकी/ घटना/ कहानी आदि से) एवं दूसरा अपठित पद्य के रूप में हो सकता है अप‍ठि‍त में से समझ/अवबोध, व्‍याख्‍या, व्‍याकरण एवं मौखिक योग्‍यता से सम्बंधित प्रश्‍न पूछ सकते है। गद्यांश साहित्यिक/ बैज्ञानिक/ सामाजिक समरसता/ तात्‍कालिक घटनाओं पर आधारित हो सकते हैं।

एसा भी हो सकता है की अपठित गद्यांश में से ही वर्तनी, विलोम शब्द, पर्यावाची शब्द, अनेक शब्द का एक शब्द, मुहावरे, लोकोक्तिया, छंद, अलंकार जो उसमे उपयोग हुए हो उससे सम्बंधित प्रश्न पूछ सकते है.

सामान्य अंग्रेजी

अंग्रेजी विषय में भी PARAGRAPH दिया जायेगा जिसमे ही grammar से सम्बंधित 5 प्रश्न पूछे जायेंगे

बाल विकास एवं शिक्षाशास्‍त्र (Child Development & Pedagogy)

यह 10 अंक ही होगी जिसके टॉपिक निम्नानुसार है

  • बाल विकास की अवधारणा एवं इसका अधिगम से संबंध।
  • विकास और विकास को प्रभावित करने वाले कारक।
  • बाल विकास के सिद्धान्‍त।
  • बालकों का मानसिक स्‍वास्‍थ्‍य एवं व्‍यवहार संबंधी समस्‍याएं।
  • वंशानुक्रम एवं वातावरण का प्रभाव।
  • समाजीकरण प्रक्रियाएं : सामाजिक जगत एवं बच्‍चे (शिक्षक, अभिभावक, साथीऋ
  • पियाजे पावलव कोहलर और थार्नडाइक : रचना एवं आलोचनात्‍मक स्‍वरूप।
  • बाल केन्द्रित एवं प्रगतिशील शिक्षा की अवधारणा।
  • बुद्धि की रचना का आलोचनात्‍मक स्‍वरूप और उसका मापन, बहुआयामी बुद्धि।
  • व्‍यक्तित्‍व और उसका मापन।
  • भाषा और विचार।
  • सामाजिक निर्माण के रूप में जेंडर, जेंडर की भूमिका, लिंगभेद और शैाक्षिक प्रथाएं।
  • अधिगम कर्त्‍ताओं में व्‍यक्तिगत भिन्‍नताएं, भाषा, जाति, लिंग, संप्रदाय, धर्म आदि की विषमताओं पर आधारित भिन्‍नताओं की समझ।
  • अधिगम के लिए आंकलन और अधिगम का आंकलन में अंतर, शाला आधारित आंकलन, सतत् एवं समग्र मूल्‍यांकन : स्‍वरूप और प्रथाएं (मान्‍यताएं)

अभिगम 

  • बच्‍चे कैसे सोचते और सीखते हैं, बच्‍चे शाला प्रदर्शन में सफलता प्राप्‍त करने में क्‍यों और कैसे असफल होते हैं।
  • शिक्षण और अधिगम की मूलभूत प्रक्रियाएं, बच्‍चों की अधिगम की रणनीतियों, अधिगम एक सामाजिक प्रक्रिया के रूप में, अधिगम का सामाजिक संदर्भ 
  • समस्या समाधानकर्ता और वैज्ञानिक अन्वेषक के रूप में बच्चा,  बच्चों में अधिगम की वैकल्पिक धारणाएं, बच्चों की त्रुटियों को अधिगम प्रक्रिया में सार्थक कड़ी के रूप में समझना। अधिगम को प्रभावित करने वाले कारकः अवधान और रुचि
  • संज्ञान और संवेग
  • अभिप्रेरणा और अधिगम
  • अधिगम में योगदान देने वाले कारक –व्‍यक्तिगतऔर पर्यावरणीय
  • निर्देशन एवं परामर्श
  • अभिक्षमता और उसका मापन – स्मृति और विस्मृति समावेशित शिक्षा की अवधारणा एवं विशेष आवश्यकता वाले बच्चों की समझ
  • अलाभान्वित एवं वंचित वर्गों सहित विविध पृष्‍ठभूमियों के अधिगमकतर्ाओं की पहचान।
  • अधिगम कठिनाइयां, ‘क्षति’ आदि से ग्रस्‍त बच्‍चों की आवश्‍यकताओं की पहचान।
  • प्रतिभावान, सृजनात्‍मक, विशेष क्षमता वाले अधिगत कर्त्‍ताओं की पहचान।
  • समस्‍याग्रस्‍त बालक : पहचान एवं निदानात्‍मक पक्ष।
  • बाल अपराध : कारण एवं प्रकार

गणित (Mathematics) शिक्षक के लिए MPTET VARG 2 Syllabus (PART B)

जो लोग व्यापम वर्ग 2 की पात्रता परीक्षा गणित विषय से देने बाले है उनके लिए निम्नलिखित MPTET VARG 2 Syllabus निर्धारित किया गया है

1.संख्‍या पद्धति 

  • प्राकृत संख्‍या, पूर्ण संख्‍या
  • पूर्णांक की पहचान एवं समझ
  • परिमेय संख्‍या की समझ एवं इन पर संक्रियाएं
  • घातांक एवं परिमेय घातांको के लिए घातांक के नियमों का अनुप्रयोग
  • बहुपद एवं परिमेय व्‍यंजक

2. बीजगणित –

  • बीजीय व्‍यंजक एवं इन पर संक्रियाएं
  • अनुपात, समानुपात
  • एकिक नियम, प्रतिशत
  • अनुक्रमानुपाती तथा व्‍युत्‍क्रमानुपाती विचरण
  • चक्रवृद्धि ब्‍याज
  • लघुगणक
  • एक चर राशि का एक घातीय समीकरण
  • दो चर राशियों का रैखिक समीकरण
  • रैखिक समीकरण को हल करने की बीजगणितीय विधि

3. ज्‍यामिति –

  • मूल ज्‍यामितीय अवधारणाएं क्षेत्रफल
  • त्रिभुज के गुणधर्म
  • पाइथागोरस प्रमेय
  • समरूप त्रिभुज
  • कोण
  • सममिति की अवधारणा
  • वृत्‍त

4. त्रकोणमिति

  • त्रिकोणमिति का परिचय
  • त्रिकोणमिति अनुप्रयोग

5. रचनाएं –

  • त्रिभुज की रचना
  • रेखाखंड का विभाजन
  • चतुर्भुज की रचना

6. क्षेत्रमिति –

  • आयताकार पथ का क्षेत्रफल
  • पृष्‍ठीय क्षेत्रफल
  • आयतन
  • वृत्‍त का क्षेत्रफल
  • द्विघात समीकरण समांतर श्रेणियाँ

7. सांख्यिकी –

  • दण्‍ड आलेख
  • आयात चित्र
  • माध्‍य, माध्यिका
  • बहुलक की गणना
  • आवृत्ति, संचयी आवृत्ति
  • वृत्‍त चित्र
  • आवृत्ति बहुभुज खींचना

(ब) Pedagogical Issues

  • गणित शिक्षण द्वारा चिंतन एवं तर्कशक्ति का विकास
  • पाठ्यक्रम में गणित का स्‍थान
  • गणित की भाषा
  • प्रभावी शिक्षण हेतु परिवेश आधारित उपयुक्‍त शैक्षणिक सहायक सामग्री का निर्माण एवं उसका उपयोग करने की क्षमता का विकास करना।
  • मूल्‍यांकन की नवीन विधियोंतथा निदानात्‍मक परीक्षण एवं पुन:शिक्षण की क्षमता का विकास।

Hindi Subject Varg 2 Syllabus ( Part B)

जिन छात्रो के द्वारा हिंदी विषय से mp vyapam संविदा शिक्षक वर्ग 2 का फॉर्म भरा गया है उनके लिए निम्न सिलेबस है

(A) भाषायी समझ/ अवबोध 

1.वाक्‍य बोध/ भाषा बोध –

  • विराम चिन्‍ह और उनका अनुप्रयोग
  • वाक्‍य रचना- शुद्ध वाक्‍य रचना
  • बोली, विभाषा, मातृभाषा, राजभाषा, राष्‍ट्रभाषा
  • वाक्‍य परिवर्तन
  • वाक्‍य के प्रकार (रचना, अर्थ, वाच्‍य के आधार पर), वाक्‍य बोध।
  • मुहावरे, लोकोक्तियां और उनका वाक्‍यों में प्रयोग

2. काव्‍य बोध –

  • काव्‍य परिभाषा, काव्‍य भेद (प्रबंधकाव्‍य, मुक्‍तककाव्‍य), काव्‍य गुण
  • शब्‍द शक्ति
  • छंद – मात्रिक छंद, वर्णिक छंद
  • कुण्‍डलिया, घनाक्षरी, मन्‍दाकांता, छप्‍पय, कवित्‍त, सवैया (मत्‍तगयंद, दुर्मिल)
  • अलंकार
  • रस परिचय, अंग, रसभेद।

3. अपठित बोध –

  • गद्यांश/ पद्यांश (शीर्षक, व्‍याख्‍या, सारांश)

4. पत्र लेखन

  • औपचारिक, अनौपचारिक, सामयिक समस्‍याओं के समाधान हेतु एवं सम्‍पादक के नाम पत्र।

5. निबंध लेखन –

  • सामाजिक, सांस्‍कृतिक, समसामयिक समस्‍याओं, विचारात्‍मक, भावात्‍मक, ललित विषयों पर निबंध लेखन।

6. हिन्‍दी साहित्‍य –

  • हिन्‍दी काव्‍य (पद्य) और उसका विकास
  • पद्य साहित्‍य का विकास – आदिकाल, भक्तिकाल, रीतिकाल का सामान्‍य परिचय सहित कवियों का साहित्यिक परिचय (रचनाएं, काव्‍यगत विशेषताएं, भावपक्ष, कलापक्ष)
  • आधुनिक काल की प्रमुख प्रवृत्तियां – छायावाद, रहस्‍यवाद, प्रगतिवाद, प्रयोगवाद, नईकविता का सामान्‍य परिचयसहित कवियों का साहित्यिक परिचय (रचनाएं, काव्‍यगत विशेषताएं, भावपक्ष, कलापक्ष)

7. हिन्‍दी गद्य और उसका विकास –

  • गद्य साहित्‍य की विविध विधाएं (निबंध, नाटक, कहानी) और उनका सामान्‍य परिचय लेखक परिचय (रचनाएं, भाषाशैली)

(B) भाषायी विकास हेतु निर्धारित शिक्षा शास्‍त्र

  • भाषा सीखना और ग्रहणशीलता
  • भाषा शिक्षण के सिद्धान्‍त
  • भाषा शिक्षण में सुनने, बोलने की भूमिका, भाषा के कार्य,बच्‍चे भाषा का प्रयोग कैसे करते हैं।
  • मौखिक और लिखित अभिव्‍यक्ति अन्‍तर्गत भाषा सीखने में व्‍याकरण की भूमिका
  • भाषा शिक्षण में विभिन्‍न स्‍तरों के बच्‍चों की चुनौतियां, कठिनाइयां, त्रुटियां एवं क्रमबद्धता
  • भाषा के चारों कौशल (सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना) का मूल्‍यांकन
  • कक्षा में शिक्षण अधिगम सामग्री, पाठ्यपुस्‍तक, दूरसंचार (दृश्‍य एवं श्रव्‍य) सामग्री, बहुकक्षा स्रोत पुन: शिक्षण

इंग्लिश सब्जेक्ट वर्ग 2 सिलेबस

इंग्लिश विषय के अभ्यर्थियों के लिए व्यापम संविदा शिक्षक वर्ग 2 का सिलेबस नीचे दिया गया है.

(A) इंग्लिश भाषा की समझ 

1. Reading Comprehension

  • Two passages of 200 words each followed by short answer type questions.
  • A poem of about 15 lines followed by short questions related to figures of speech, forms of poetry.
  • Interpret tabular and diagrammatic presentation of information.

2. Vocabulary

  • One word substitution
  • Synonyms
  • Opposites
  • phrases
  • idioms/proverbs
  • word formation

3. Functional Grammar:

  1. Tenses
  2. Modals
  3. Articles
  4. Determiners
  5. Prepositions
  6. Voices
  7. Narration
  8. Clauses
  9. Transformation of sentences

4. Writing

  • A factual description (in about 40-50 words) of any event or incident – e.g. a report or a process based on given input/advertisements and notices/designing or drafting posters.
  • One essay (200-250 words)-out of four or five topics.
  • Writing letter/application based on given inputs. Letter types include:
  • letters to editors
  • personal/informal letters
  • business or official letters
  • application for a job

(B) Pedagogy of Language Development 

  • Learning and acquisition
    • Need for Learning English
    • Objectives of teaching English
    • Methods and approaches (Grammar-translation, Direct, bilingual, communicative, structural, integrated)
    • Qualities of a good language teacher
  • Language skills
    • Listening, Speaking, Reading and Writing skills
    • Importance of listening and reading
    • Importance of speaking and writing
  • Perspective and role of grammar in language learning
    • Parts of Speech
    • Punctuation marks
    • Vocabulary and word formation (synonym and antonym, homophones, one-word substitution, changing word category).
    • Framing questions
    • Planning and implementation (Teaching of Prose, grammar, composition, poetry)
  • Evaluation
    • learning enhancement program
    • Active learning Methodology
    • Remedial teaching
    • cce
  • Teaching-learning materials
    • Textbook preparing exercises based on the textbooks
    • Multimedia materials (charts, flash cards, models, Newspaper cuttings, CD, Radio, Tape recorder)

विज्ञान विषय MPTET SYLLABUS (PART B)

जिन आवेदकों क्वे द्वारा विज्ञान विषय से वर्ग 2 की परीक्षा दी जा रही है उनके लिए vyapam varg 2 syllabus science subject भाग (ब) नीचे दिया जा रहा है

(A) विषयवस्‍तु (Content) 

  1. ब्रह्माण्‍ड
  2. पर्यावरण
  3. मापन – समय, ताप, लम्‍बाई, क्षेत्रफल
  4. आयतन, द्रव्‍यमान का मापन।
  5. पदार्थ – पदार्थ की अवस्‍थ्‍ज्ञाएं, पदार्थ के गुण, पदार्थों की पृथक्‍करण की विधियां
  6. धातु-अधातु, अणु-परमाणु, तत्‍व, यौगिक और मिश्रण
  7. रासायनिक संकेत, सूत्र एवं समीकरण
  8. अम्‍ल, क्षार, लवण एवं उनके गुण
  9. भोजन एवं स्‍वास्‍थ्‍य – भोजन के स्‍त्रोत, भोजन के घटक, भोज्‍य पदार्थों का संरक्षण, भोजन एवं स्‍वास्‍थ्‍य
  10. पादप एवं प्राणियों में संरचनात्मक संगठन
  11. सजीव जगत – वर्गीकरण, संरचना, जैविक प्रक्रियाएं, अनुकूलन, जैव उत्‍पत्ति
  12. मानव शरीर विज्ञान, शरीर क्रियात्मकता कोशिका, सरचना एवं कई अनुवांशिक तथा विकास
  13. कार्य, ऊर्जा और मशीन
  14. बल, गति एवं दाब
  15. ताप एवं उष्‍मा
  16. हमारे आसपास का वातावरण
  17. भौतिक और रासायनिक परिवर्तन
  18. कार्बन-अपररूप, हाइड्रोकार्बन
  19. प्राकृतिक घटनाएं- प्रकाश, ध्‍वनि
  20. प्राकृतिक संसाधन
  21. वस्‍तुएं कैसे काम करती है – चुम्‍बक, विद्ययुत एवं विद्युत धारा
  22. खाद्य उत्‍पादन और प्रबंधन

(B) Pedagogical Issues 

  • विज्ञान के उद्देश्‍य
  • वैज्ञानिक दृष्टिकोण का विकास करना।
  • विज्ञान विषय संबंधी नवीनतम जानकारी प्रदान करना।
  • महत्‍वपूर्ण वैज्ञानिक तथ्‍यों और सिद्धान्‍तों से अवगत कराना।
  • विज्ञान संबंधी विभिन्‍न कौशलों का विकास करना।
  • प्रभावी शिक्षण हेतु परिवेश आधारित उपयुक्‍त शैक्षणिक सहायक सामग्री का निर्माण एवं उसका उपयोग करने की क्षमता का विकास करना।
  • अवलोकन, प्रयोग करना, खोज।
  • मूल्‍यांकन की नवीन विधियां तथा निदानात्‍मक परीक्षण एवं पुन: शिक्षण की क्षमता का विकास।

SOCIAL SCIENCE VARG 2 MPTET SYLLABUS

पार्ट अ सभी के लिए कॉमन है जो की आपको ऊपर बता दिया गया है सामाजिक विज्ञान शिक्षक के लिए वर्ग 2 सिलेबस (भाग ब) जो की 120 नंबर का आयेगा निम्न प्रकार है

इतिहास 

  • इतिहास जानने के स्‍त्रोत
  • आदिमानव का विकास व पाषाणकाल, हड़प्‍पा व वैदिककालीन सभ्‍यता, जैन व बौद्ध धर्म, मोर्य, गुप्‍त व हर्षकाल, विदेशों से सम्‍पर्क व भारत के संबंध तथा सामाजिक व आर्थिक जीवन पर उसका प्रभाव।
  • मध्‍यकाल का प्रारम्‍भ व इतिहास जानने के स्‍त्रोत, मोहम्‍मद गौरी व मुहम्‍मद गजनवी के आक्रमण, दिल्‍ली सल्‍तनत – खिलजी वंश, तुगलक वंश व लोदी वंश के संदर्भ में, सल्‍तनतकालीन, सामाजिक, धार्मिक व आर्थिक स्थिति। मुगलकाल का संक्षिप्‍त परिचय (प्रमुख शासक, सामाजिक, आर्थिक व धार्मिक जीवन तथा संगीत, चित्रकला व वास्‍तुकला) मुगलकाल का पतन। विजयनगर एवं बहमनी साम्राज्‍य। मराठा वसिक्‍ख शक्ति का उदय।
  • भारत में यूरोपीय व्‍यापारिक कम्‍पनियों का आगमन, सत्‍ता के लिए उनके आपसी संघर्ष। ब्रिटिश कम्‍पनी की सफलताव साम्राज्‍य विस्‍तार, 1857 का स्‍वतंत्रता संग्राम। धार्मिक-सामाजिक पुनर्जागरण। भारतीय राष्‍ट्रीय कांग्रेस की स्‍थापना, उद्देश्‍य संघर्ष व महत्‍व, उदारवाद एवं अनुदारवाद, राष्‍ट्रीय आन्‍दोलन – असहयोग, सविनय अवज्ञा, भारत छोड़ो आन्‍दोलन। राष्‍ट्रीय आन्‍दोलन में क्रांतिकारियों का योगदान। स्‍वतंत्रता प्राप्ति एवं विभाजन। स्‍वतंत्रता आन्‍दोलन में म.प्र. का योगदान। MPPEB Samvida Varg 2
  • स्‍वातंत्रोत्‍तर भारत की प्रमुख घटनाएं – काश्‍मीर समस्‍या, 1962 का चीन युद्ध, 1965 व 1971 का भारत पाक युद्ध, भारत में आपातकाल, भारत की आण्विक शक्ति के रूप में उदय।

नागरिक शास्‍त्र

  • परिवार, समाज, समुदाय, राष्‍ट्रीय प्रतीक, स्‍थानीय स्‍वशासन (ग्रामीण व नगरीय संस्‍थाए)
  • भारतीय संविधान – विशेषताएं, नागरिक के मौलिक अधिकार एवं कर्तव्‍य, बाल एवं मानव अधिकार, मानव अधिकार आयोग। संघीय व्‍यवस्‍थापिका – लोक सभा, राज्‍य सभा, संघ्‍ज्ञीय कार्यपालिका – राष्‍ट्रपति, उपराष्‍ट्रपति, मंत्रिपरिषद। सर्वोच्‍च व उच्‍च न्‍यायालय – गठन, शक्तियां, कार्य। राज्‍य सरकार, राज्‍यपाल एवं राज्‍य मंत्रिपरिषद। निर्वाचन आयोग – कार्य एवं शक्तियां, निर्वाचन की प्रक्रिया।
  • प्रजातंत्र – कार्यप्रणाली, प्रजातंत्र में राजनीतिक दलोंका महत्‍व और कार्य।
  • प्रजातंत्र की प्रमुख चुनौतियां – निरक्षरता, सम्‍प्रदायवाद, क्षेत्रवाद, बेरोजगारी, आतंकवाद, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, पिछड़ा वर्ग, संवैधानिक संरक्षण।
  • भारत की विदेश नीति व पड़ोसी देशों से संबंध, संयुक्‍त राष्‍ट्र और भारत का योगदान।

भूगोल 

  • सौरमंडल, अक्षांश व देशान्‍तर रेखाएं, ग्‍लोब व मानचित्र।
  • वायुमंडल – वायुमंडल का संगठन, वायुदाब।
  • जलमंडल – लहरें, धाराएं, ज्‍वार-भाटा, वर्षा। प्रमुख महासागर।
  • स्‍थलमंडल – पृथ्‍वी की गतियां, ऋतु परिवर्तन, परिवर्तनकारी बाह्य व आन्‍तरिक शक्तियां व उनकेकार्य। मृदा संरक्षण।
  • भारत – स्थिति विस्‍तार, भौतिक संरचना, जलवायु, मृदा, प्राकृतिक वनस्‍पति, जीवजन्‍तु, खनिज एवं उद्योग, शक्ति संसाधन, प्रमुख फसलें, परिवहन के साधन, जनसंख्‍या व उसका वितरण।
  • समस्‍त महाद्वीप- अक्षांशीय व देशान्‍तरीय विस्‍तार
  • धरातलीय संरचना, जलवायु
  • प्राकृतिक वनस्‍पति, जीवजन्‍तु, खनिज एवं उद्योग, शक्ति संसाधन, प्रमुख फसलें, परिवहन के साधन, प्रमुख देश।
  • पर्यावरण – प्रदूषण के कारण व उपाय, औद्योगिक अपशिष्‍ट व उसका प्रबंधन, आपदा प्रबंधन।

अर्थशास्‍त्र

  • आर्थिकी विकास, भारत के समक्ष आर्थिक चुनौतियां, आर्थिक प्रणाली एवं वैश्‍वीकरण। मुद्रा एवं वित्‍तीय प्रणाली।
  • पंचवर्षीय योजनाएं एवं भारत का कृषि विकास। ग्रामीण अर्थव्‍यवस्‍था, खाद्यान्‍न सुरक्षा सेवा क्षेत्र, उपभोक्‍ता संरक्षण।

(ब) शिक्षाशास्‍त्रीय मुद्दे – 15 प्रश्‍न

  • सामाजिक विज्ञान की प्रकृति एवं अवधारणा।
  • कक्षागत प्रक्रियाएं, गतिविध्यिायां एवं परिचर्चा।
  • विवेचनात्‍मक चिंतन प्रक्रिया का विकास।

संस्कृत विषय सिलेबस mptet varg 2

अगर आपके द्वारा संस्कृत को वर्ग 2 में विषय चुना गया है तब आपको पार्ट अ जो की 30 नंबर का आयेगा उसकी जानकी पहले ही दी जा चुकी है बचा हुआ 120 अंको का सिलेबस निम्नानुसार है

1. व्‍याकरण

  • शब्‍द रूप – राम, कवि, भानु, लता, पितृ, नदी, वधू, मातृ, फल, वारि, आत्‍मन्।व्‍याकरण सर्व, तद, एतद्, यत्, इदम, अस्‍मद, युष्‍मद्।
  • सन्धि – संधि  और उसके प्रकार – स्‍वर संधि, व्‍यंजन संधि, विसर्ग संधि एवं उनके भेद, संधि विच्‍छेद एवं संधि युक्‍त पद बनाना।
  • प्रत्‍यय – कृत प्रत्‍यय – (क्‍त्‍वा, ल्‍यम्, तुमुन, क्‍त, क्‍तवतु, शतृ, शानच्, तव्‍यत्, अनीयर)।
  • समास –  समास की परिभाषा, भेद, समास विग्रह, सामासिक पद।
  • तद्धित प्रत्‍यय –  अण्, ढक्, मतुप, इत्, तल्, ठक्। स्‍त्री प्रत्‍यय – टाप्, ड़ीप।
  • धातु रूप – लट्, लृट, लड़ग एवं विधिलिंग (पांचों लकार) 1. परस्‍मैपद   2. आत्‍मनेपद
  • अव्यव  – पुन:, अपि, पुरा, अधुना, ह्य:, श्‍व:, अद्य, अधुना, कुत्र, यत्र, तत्र, सर्वत्र, यदा, कदा, सर्वदा, उपरि, यथा, तथा, अपि।
  • वेद, वेदांग, पुराण, उपनिषद् का सामान्‍य परिचय। 
  • संस्‍कृत निबंध लेखन
  • अनौपचारिक पत्र एवं प्रार्थना पत्र लेखन।
  • संस्‍कृत के प्रतिनिधि काव्‍यों का परिचय – (भास, कालिदास, शूद्रक एवं भवभूति की कृतियों का परिचयात्‍मक ज्ञान)
  • रामायण एवं महाभारत का सामान्‍य परिचय।
  • कारक एवं विभक्तियों का सामान्‍य परिचय।
  • हिन्‍दी वाक्‍यों का संस्‍कृत में अनुवाद करना।
  • संस्‍कृत अ‍पठित गद्य एवं अपठित पद्य का हिन्‍दी अनुवाद
  • गद्ध्यांस से सम्बंधित प्रश्न

(ब) भाषायी विकास हेतु निर्धारित शिक्षाशास्‍त्र 

  • भाषा सीखना और ग्रहणशीलता।
  • भाषा शिक्षण में सुनने, बोलने की भूमिका, भाषा के कार्य, बच्‍चे भाषा का प्रयोग कैसे करते हैं।
  • भाषा शिक्षण के सिद्धान्‍त।
  • मौखिक और लिखित अभिव्‍यक्ति अन्‍तर्गत भाषा सीखने में व्‍याकरण की भूमिका।
  • मूल्‍यांकन, निदानात्‍मक परीक्षण एवं उपचारात्‍मक शिक्षण।
  • भाषा शिक्षणमें विभिन्‍न स्‍तरों के बच्‍चों की चुनौतियां, कठिनाइयां, त्रुटियां एवं क्रमबद्धता।
  • कक्षा में शिक्षण अधिगमसामग्री, पाठ्यपुस्‍तक, दूरसंचार (दृश्‍य एवं श्रव्‍य) सामग्री, बहुकक्षा स्रोत।
  • भाषा के चारों कौषल (सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना) का मूल्‍यांकन 

यह सभी विषय के लिए Mptet Varg 2 Syllabus था जो की २ हिस्सों में है भाग अ सभी के लिए कॉमन है जबकि भाग ब का विषयवार अलग-अलग दिया गया है

शिक्षक भर्ती से जुडी समस्त जानकारी को MPONLINE TEACHER COUNSLLING PORTAL पर देख सकते है.

यह भी पढ़े – MPTET VARG 1 INFORMATION

वर्ग 3 CUTOFF फर्स्ट काउंसलिंग

AKHILESH
Follow me
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *