अग्निवीर भर्ती: परीक्षा का तरीका बदला अब पहले देना होगा ऑनलाइन परीक्षा।

सरकार ने जब से आर्मी भर्ती में अग्निवीर योजना को लाई है तब से यह लगातार किसी न किसी वजह से न्यूज में आ ही जाती है। और विपक्ष तो लगातार आर्मी भर्ती को 4 साल करने का विरोध कर रहा है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

अग्निवीर भर्ती परीक्षा प्रणाली

अग्निवीर भर्ती परीक्षा प्रणाली जब आई थी तो ऐसा प्रावधान किया गया था कि सेना में शामिल होने के लिए पहले फिजिकल परीक्षा को पास करना पड़ता था। इसमें संशोधन करके अब ऑनलाइन एग्जाम पेपर को जोड़ दिया गया गया।

अब जो भी सेना की भर्ती होगी उसके लिए निर्धारित सिलेबस के हिसाब से ऑनलाइन एग्जाम कंडक्ट करवाया जायेगा जो भी अभ्यर्थी isme पास होंगे वो ही फिजिकल टेस्ट को दे सकेंगे।

परीक्षा प्रणाली ऑनलाइन exam करने से लोगो के द्वारा इसके फायदे और नुकसान दोनो बताएं जा रहे है। इस विषय का जानकर होने के चलते मेरा मानना है की अग्निवीर भर्ती परीक्षा में ऑनलाइन पेपर koo शामिल कर देने से सरकार का फायदा होगा अग्निवीरो का नुकसान।

ऑनलाइन परीक्षा के फायदे

इसके निम्नलिखित फायदे देखे जा रहे है।

  • परीक्षा केंद्र की संख्या बढ़ जा रही है इससे किसी भी एक केंद्र पर अधिक संख्या में छात्रों के न पहुंचने से अव्यवस्था नही होगी।
  • जरूरत पढ़ने पर बाद में कभी भी और सेंटर की संख्या बढ़ाई जा सकती है।
  • सेना में जो भी युवक जायेंगे वह बौद्धिक रूप से भी सशक्त होंगे। इससे मानसिक क्षमता और शारीरिक क्षमता के बीच संतुलन भी बड़ेगा।

क्या नुकसान है

  • 4 साल की नौकरी के लिए ऑनलाइन परीक्षा देने की तैयारी करनी पड़ेगी जिससे अब हर कोई सेना में नही जा पायेगा केवल वही छात्र जायेंगे जो तैयारी करके पेपर निकालेंगे।
  • ऑनलाइन पेपर के लिए पहले ऑनलाइन फॉर्म भी डालना पड़ेगा। जिसके लिए परीक्षा फीस भी देनी पड़ेगी।
  • वैसे भी आर्मी सैनिक भर्ती में अधिकांशता गांव से गरीब लड़के जाते है जिनके पास फॉर्म भरने के लिए भी पैसे नही है। यह उनके ऊपर अनुचित बोझ है।

ECL comapny करवाएगी अग्निवीर परीक्षा

एग्जाम करवाने के लिए ecl company को चुना गया है। अब यही कंपनी देश। भर में 176 सेंटर पर पेपर करवाएगी।

patwari bhariti pariksha


AKHILESH
Follow me
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *